logo
Articles worth reading

If You Really Want To, You'll Be Able To Immerse Yourself In

personhindu access_time23 minutes ago

Eum et novum mollis corpora. Ad lorem altera omittantur pro, eros modus dolore id usu. His hinc munere intellegebat in. Sea tibique dissentias ea. Nominati voluptatum ullamcorper eos ut

Eu vix augue sententiae et eos amet populo mea forensibus

personOrange Themes access_time23 minutes ago

Eum et novum mollis corpora. Ad lorem altera omittantur pro, eros modus dolore id usu. His hinc munere intellegebat in. Sea tibique dissentias ea. Nominati voluptatum ullamcorper eos ut

Pro ad adhuc autem expetenda, ius in accusam ignota

personOrange Themes access_time23 minutes ago

Eum et novum mollis corpora. Ad lorem altera omittantur pro, eros modus dolore id usu. His hinc munere intellegebat in. Sea tibique dissentias ea. Nominati voluptatum ullamcorper eos ut

देश / पश्चिम बंगाल: ममता ने बीजेपी पर लगाया बंगाल विरोधी होने का आरोप

पश्चिम बंगाल: ममता ने बीजेपी पर लगाया बंगाल विरोधी होने का आरोप

पश्चिम बंगाल: ममता ने बीजेपी पर लगाया बंगाल विरोधी होने का आरोप

person access_timeMonday Aug 13, 2018 23:55 PM chat_bubble_outlineLeave a comment

कोलकाता: ममता बनर्जी ने असम की राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) के अंतिम मसौदे में 40 लाख से ज्यादा लोगों के नाम शामिल नहीं किए जाने को लेकर केंद्र की बीजेपी नीत सरकार पर हमला बोला है. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आज बीजेपी को ‘बंगाली विरोधी’ करार दिया. बीजेपी पर निशाना साधते हुए तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ने पूछा कि  हिलसा मछली, जामदानी साड़ी, संदेश और मिष्टी दोई, जो मूल रूप से बांग्लादेश के हैं, क्या उसे भी ‘घुसपैठिया या शरणार्थी’ करार दिया जाएगा.


ममता ने कहा कि ये ‘40 लाख लोग पूरी तरह भारतीय हैं.’ उन्होंने उन मानदंडों पर भी सवाल उठाए जिसके आधार पर 40 लाख से ज्यादा लोगों के नाम एनआरसी के अंतिम मसौदे में शामिल नहीं किए गए हैं. उन्होंने कहा कि यदि सरकार उनसे उनके माता-पिता के जन्म प्रमाण-पत्र मांगेगी तो वह भी इन दस्तावेजों को पेश नहीं कर पाएंगी.


ममता ने कहा, ‘मैं अपने माता-पिता के जन्म की तारीखें नहीं जानती. मैं सिर्फ उनकी मृत्यु की तारीखें जानती हूं. मैं उनके जन्म की तारीख वाले कोई दस्तावेज पेश नहीं कर पाऊंगी. ऐसे मामलों को लेकर एक स्पष्ट व्यवस्था होनी चाहिए. आप आम लोगों को जिम्मेदार नहीं ठहरा सकते.’ उन्होंने बीजेपी को ‘बंगाली विरोधी’और ‘पश्चिम बंगाल विरोधी’करार दिया.


ममता ने कहा, ‘उन्हें (बीजेपी को) नहीं भूलना चाहिए कि बंगाली बोलना अपराध नहीं है. यह दुनिया में बोली जाने वाली पांचवीं सबसे बड़ी भाषा है. बीजेपी को बंगाल से क्या दिक्कत है? क्या वह बंगालियों और उनकी संस्कृति से डरी हुई है? उन्हें नहीं भूलना चाहिए कि बंगाल देश का सांस्कृतिक मक्का है.’

संबंधित खबरे

    Submit a comment

    info_outline

    Your data will be safe!

    Your e-mail address will not be published. Also other data will not be shared with third person.